Home

Welcome to My New Blogging Blog

  • राम पर लिखना कठिन हैं….

    April 2, 2020 by

    पहले उसे छला गया । फिर वो वन चला गया ।।एक वचन की लाज रखने । भाई के सर ताज रखने।।माँ की ममता छोड़ कर । सारे बंधन तोड़ कर।।राम पर लिखना कठिन है ।। न थी लालसा वैभव की । न थी सत्ता की पिपासा ।। रखा ठोकर पर सिंहासन । और दीपिता को दिलासा ।।जानते थे वे प्रभु… Read more

  • पराया हमें वो बताने लगे हैं

    March 31, 2020 by

    इशारे से सब कुछ जताने लगे हैंमुझे अपना अब वो बनाने लगे हैं। उठाया है मैने जिन्हें ज़िन्दगी भर,वही आज मुझको गिराने लगे हैं। बताते थे ख़ुद कभी यार जो कलवही आज मुझको बेगाने लगे हैं। रहेंगे सदा साथ कहते थे जो कलवही आँख मुझसे चुराने लगे हैं। न रखते थे नज़रों से ओझल कभी जोवही आज मुझको भुलाने लगे… Read more

View all posts

Follow My Blog

Get new content delivered directly to your inbox.