Home

Welcome to My New Blogging Blog

  • सोचा आज कह ही दूँ

    November 10, 2019 by

    जब भी किसी समस्या का समाधान हो जाता है तब तब सोशलमीडिया पर बहुत ही आपत्तिजनक टिपण्णीयां मिलती है वीर रस के कवियों के बारे में कही दुकान बंद हो गयी कही अब क्या बेचेंगे इत्यादि , मैं बताता हूँ आज आपको जो कविताएं किसी समस्या पर लिखी जाती है उस कवि का दिल बड़ा होता है जो जानता है… Read more

  • कहानी कहां शेष है

    November 8, 2019 by

    उनकी आंखों में पानी कहां शेष है सांस है , जिंदगानी कहां शेष है भूल जाओ कहानी पढ़ी जो कभी अब खतम है कहानी कहां शेष है । आग दिल मे लिए वो निकल तो गए आँच थोड़ी पड़ी वो पिघल तो गए आँख थी फिर भी देखा गया ही नही पांव रखते जमी पर फिसल तो गए । कौन… Read more

View all posts

Follow My Blog

Get new content delivered directly to your inbox.