अम्बेडकर जयंती – 14 अप्रैल

सामाजिक आज़ादी के बिना क़ानूनी स्वतंत्रता बेमानी होती है – बी आर अम्बेडकर
काशǃ भारत के एक धर्म जो की क़ानूनी रूप से अल्पसंख्यक है उनके पास भी एक अम्बेडकर होते।
सदर नमन
सादर वंदे
एम के पाण्डेय निल्को

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s