उसे कहते हैं बिटिया

घर आने पर दौड़ कर जो पास आये,
उसे कहते हैं बिटिया ।

थक जाने पर प्यार से जो माथा सहलाए,
उसे कहते हैं बिटिया ।

“कल दिला देंगे” कहने पर जो मान जाये,
उसे कहते हैं बिटिया ।

हर रोज़ समय पर दवा की जो याद दिलाये,
उसे कहते हैं बिटिया ।

घर को मन से फूल सा जो सजाये, उसे कहते हैं बिटिया ।

सहते हुए भी अपने दुख जो छुपा जाये,
उसे कहते हैं बिटिया ।

दूर जाने पर जो बहुत रुलाये,
उसे कहते हैं बिटिया ।

पति की होकर भी पिता को जो ना भूल पाये,
उसे कहते हैं बिटिया ।

मीलों दूर होकर भी पास होने का जो एहसास दिलाये,
उसे कहते हैं बिटिया ।

“अनमोल हीरा” जो कहलाये,
उसे कहते हैं बिटिया

अगर आप भी अपनी बेटी को प्यार करते हैं तो आप इसे अपने दोस्तों को अवश्य शेयर करें ।

सादर
VMW Team

(व्हाट्सएप्प से प्राप्त)

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s