‘भारत रत्न’

भारत रत्न
मूल रूप में इस सम्मान के पदक का डिजाइन 35 मिमी गोलाकार स्वर्ण मेडल था। इसमें सामने सूर्य बना था, ऊपर हिन्दी में भारत रत्न लिखा था, नीचे पुष्पहार था और पीछे की तरफ राष्ट्रीय चिह्न् और मोटो था। फिर इस पदक के डिजाइन को बदल कर तांबे के बने पीपल के पत्ते पर प्लेटिनम का चमकता सूर्य  बना दिया गया। इसके नीचे चांदी मेंभारत रत्नलिखा रहता है। यह सफेद रंग के 2 इंच चौड़े फीते के साथ पदक को दिए जाने वाले के गले में पहनाया जाता है।
इस सम्मान की स्थापना 2 जनवरी 1954 में भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद ने की थी। अन्य अलंकरणों के समान इस सम्मान को भी नाम के साथ पदवी के रूप में प्रयोग नहीं किया जा सकता है। इस सम्मान को 13 जुलाई 1977 से 26 जनवरी 1980 तक के लिए निलंबित कर दिया गया था। प्रारम्भ में इस सम्मान को मरणोपरांत देने का प्रावधान नहीं था, यह प्रावधान 1955 के  बाद में जोड़ा गया। बाद में यह सम्मान भारत की 12 महान विभूतियों को मरणोपरांत प्रदान किया गया।
अभी तक दो गैर भारतीयों और एक प्रकृति से भारतीय नागरिक सहित भारत रत्न का सम्मान 41 लोगों को मिल चुका है। सबसे पहला भारत रत्न सम्मान वैज्ञानिक चंद्रशेखर वेंकटरमन को दिया गया था।
भारत रत्न का सम्मान पाने के लिए यह जरूरी नहीं है कि वह व्यक्ति भारत का ही नागरिक हो। हालांकि, आमतौर पर लोगों की धारणा यही है कि यह सम्मान उन्हें ही दिया जाता है, जो भारत के नागरिक हों। भारतीय प्रकृति की नागरिक मदर टेरेसा को  1980 में यह सम्मान दिया गया। इनके अलावा दो गैर भारतीयों को भी यह सम्मान दिया गया है। इनमें से एक हैं सीमांत गांधी के नाम से मशहूर खान अब्दुल गफ्फार खान, जिन्हें 1987 में और दूसरे नेल्सन मंडेला हैं, जिन्हें 1990 में भारतरत्न से  सम्मानित किया जा चुका है।

भारत ने अनंत काल से बहादुरी की अनेक गाथाओं को जन्म दिया है। संभवत: उनके  बलिदानों को मापने का कोई पैमाना नहीं है, यद्यपि हम उन लोगों से भी अपनी आंखें  फेर नहीं सकते, जिन्होंने अपनेअपने क्षेत्रों में उत्कृष्टता प्राप्त कर देश का गौरव बढ़ाया है  और देश को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता दिलाई है। इसी क्रम में पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी और क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को भी भारत रत्न दिए जाने की मांग हो रही है। यह भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है। यह सम्मान राष्ट्रीय सेवा के लिए दिया जाता है। इन सेवाओं में कला, साहित्य, विज्ञान या सार्वजनिक सेवाएं शामिल हैं।
@@@@@@@@@@@@@@@@@@@@@@@@@@@@

अच्छा लगने पर अपने अमूल्य विचार मेल या कमेन्ट करे
धन्यवाद!
VMW Team (India’s New Invention) 
+91-9024589902 & +91-8795245803

One comment

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s