Monthly Archives: December 2011

जब जागो तभी सवेरा

जागो, तनिक सोचो जिस देश समाज से हो तुम जाते जाने और पहचाने,
उसकी कभी भी न की महसूस, ज़रा भी जिमेदारी हमने,
तनिक न सोचा अवला, दीन, दुखी और अनाथों के बारे में
“जब जागो तभी सवेरा ” देर अभी भी न हुई है जागने में ,
आज ही ले लो कोई प्रण, कसम, इस नव वर्ष पर अभी से
एक भी दुखी पर की गयी दया हर लेगा सारा चिंतन ज़िन्दगी से ,
नव उर्जा, प्रफुल्लित मन भर देगा खुशियों से सारा घर आँगन
नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाओ के साथ आप का आयुष शुक्ला

—-नव वर्ष—

काजल



सौम्या



 

 नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाये !

    
 
नव वर्ष आया है,
नया प्रभात लाया है। 
इक नई उमंगों के संग,
नई तरंगों के संग। 
इक नए वादों के संग,
नए इरादों के संग। 
नव वर्ष आया है,
नया प्रभात लाया है
इक नई आभा लिये,
नई आशा लिये
इक नया जोश लिये,
नया तेज लिये
नव वर्ष आया है,
नया प्रभात लाया है
 
प्रस्तुत कर्ता—–

 सौम्या और काजल

Happy New Year Wish

My Happy New Year wish for you
Is for your best year yet,
A year where life is peaceful,
And what you want, you get.


A year in which you cherish
The past year’s memories,
And live your life each new day,
Full of bright expectancies.


I wish for you a holiday
With happiness galore;
And when it’s done, I wish you
Happy New Year, and many more.
 Girijesh Pandey “Gopi”VMW Team

Happy New Year 2012

Siddesh

Happy New Year to you!
May every great new day
Bring you sweet surprises–
A happiness buffet.

Happy New Year to you,
And when the new year’s done,
May the next year be even better,
Full of pleasure, joy and fun.
 Happy New Year 2011Siddesh Pandey “Yash”

नववर्ष की आप सभी को हार्दिक बधाई |

पवन बाबा 

आज 2011 का आखिरी दिन है. एक और साल हमारी जिंदगी से गुजर जाएगा. जिंदगी के बसंत में एक और बसंत जोड़ 2011 का यह साल न जानें कितनी यादें दे अपनी छाप छोड़ हमारी जिंदगी से विदा लेने को है और जाते जाते हमें 2012 के रुप में एक नया साथी देता जा रहा है जो आने वाले 365 दिन तक हमारा साथी रहेगा.
किसी के लिए यह साल बहुत जल्दी बीत गया तो किसी के लिए यह साल बहुत लंबा रहा. विश्व पटल पर कई हलचलें पैदा कर और भारतीय खेल जगत के नए दबंगों को हमारे सामने रख यह साल अपने आप में बेमिसाल बन चुका है. हमें आशा है कि आप सब ने भी व्यक्तिगत रुप से इस वर्ष जरुर कुछ विशेष पाया होगा. लेकिन जो बीत गया उसे भूल जाएं और जो आने वाला है उसका उत्सव मनाएं. पुराने साल को एक बेहतरीन विदाई दीजिए और पूरी गर्मजोशी से नए साल का स्वागत करें. 
अंत में आप सभी को नए साल 2012 के लिए हार्दिक मंगलकामनाएं. आशा है आपके लिए नया साल नई उम्मीदें, नई आशाएं और अवसरों की बहार लेकर आएगा. 

********************
 पवन पाठक 
ॐ शांति मेडिकल स्टोर
पिपरा चौराहा , लार 
देवरिया 

हर बच्चे के हाथ में कंप्यूटर

मोहक और योगेश
भारत में इस समय अधीरता से ‘आकाश ‘ की प्रतीक्षा है। ‘आकाश ‘है स्कूली स्लेट जैसा वह टैबलेट कंप्यूटर, जो देश के 22 करोड़ छात्रों को इंटरनेट के आकाश पर पहुँचाने के लिए भारत-भूमि पर अवतरित हो रहा है। VMW Team  के मोहक पाठक और योगेश पाण्डेय की रिपोर्ट ….

केवल सवा दो हज़ार रूपए मूल्य वाले संसार के इस सबसे सस्ते टैबलेट पीसी से ऐसे शैक्षिक चमत्कारों की भविष्यवाणी की जा रही है, जो किसी और देश में अब तक नहीं हुए।  यह सोचने का कष्ट कोई नहीं करना चाहता कि हर बच्चे के हाथ में कंप्यूटर थमाने के क्या कोई दुष्परिणाम नहीं हो सकते? आकाश’  बाज़ार में आने वाला है। वह इंटरनेट के साथ-साथ फेसबुक, ट्विटर, मीडिया प्लेयर और कंप्यूटर गेम जैसी ऐसी कई सुविधाओं से लैस होगा, जो आजकल के युवाओं की पहली पसंद हैं। उसके निर्माता शीघ्र ही हर महीने एक लाख ‘आकाश’ बेचने की आशा कर रहे हैं। उसे सस्ता रखने और हर छात्र तक पहुँचाने में स्वयं भारत सरकार भी गहरी दिलचस्पी ले रही है।इस में कोई शक नहीं किं कंप्यूटर का ज्ञान होना आज के समय की परम आवश्यकता है। इंटरनेट हर तरह की सूचना और संवाद का सबसे तेज माध्यम बन गया है। छात्र उससे अपने ज्ञान के क्षितिज का असीमित विस्तार कर सकते हैं। पर, यह भी तो सच है कि इंटरनेट के माध्यम से बच्चों व छात्रों तक ऐसी अपार अवांछित बातें भी पहुंच सकती हैं, जो उन्हें भटका सकती हैं। उनका चरित्र बिगाड़ सकती हैं। जीवन बर्बाद कर सकती हैं।
टैबलेट ऐसा लघु कंप्यूटर है, जिसे किसी भी समय और किसी भी जगह इस्तेमाल किया जा सकता है। माँ-बाप से छिपा कर उसका धड़ल्ले से दुरुपयोग भी हो सकता है। इसकी क्या गारंटी कि स्कूली बच्चे उसका केवल अपनी पढ़ाई-लिखाई के लिए जानकारी जुटाने, ईमेल लिखने या फेसबुकी मित्रों से संपर्क करने के लिए ही उपयोग करेंगे? वे मनचाहा संगीत ही नहीं, अश्लील तस्वीरें और वीडियो भी तो डाउनलोड कर सकते हैं? उनका मन जितना इस तरह की चीजों में लगेगा, क्या उतना ही पढ़ाई-लिखाई में भी लगेगा?

***************************
मोहक पाठक और योगेश पाण्डेय  
VMW Team 
India’s New Invention
vmwteam@live.com

500 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार

प्रशांत यादव
रवि गुप्ता

चीन ने पिछले हफ्ते ऐसी ट्रेन दौड़ा दी, जिसने देखते ही देखते 500 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ ली. यानी भारत में चली तो दिल्ली से लखनऊ का सफर एक घंटे का रह जाएगा. VMW Team के रवि गुप्ता और प्रशांत यादव की एक रिपोर्ट ..
“सस्ती तकनीक, कम उम्र और भरोसे की कमी” के साथ ही अलग से नुकसान भारत में चीन से आए सामानों की सामान्य रूप से यही पहचान रहती है पर इन सबके बावजूद भारत के बाजार चीनी माल से भरे पड़े हैं. इनमें अगर यह ट्रेन भी शामिल हो जाए तो लोगों का काफी वक्त बच जाएगा.

यह नई ट्रेन चीन में ट्रेन बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी सीएसआर कॉर्प लिमिटेड की महत्वाकांक्षी परियोजना है. ट्रेन सीएसआर की एक सहयोगी कंपनी ने बनाई है. इसकी आकृति एक पुराने चीनी तलवार जैसी है. चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने यह जानकारी दी. ट्रेन के जानकार शेन जियुन ने इसके बारे में कहा है, “यह ट्रेन हाई स्पीड रेल नेटवर्क को नई और उपयोगी दृष्टि देगी.” हालांकि इस ट्रेन के परीक्षण का यह मतलब बिल्कुल नहीं है कि अब भविष्य में चीन की ट्रेनें इतनी तेज गति से चलेंगी. सीएसआर के चेयरमैन जाओ जियाओगांग ने बीजिंग मॉर्निंग न्यूज से कहा, “हम ट्रेन यातायात में पहले सुरक्षा को सुनिश्चित करना चाहते हैं.” ट्रेन का परीक्षण ऐसे समय में किया गया है जब देश के हाईस्पीड नेटवर्क पर सवाल उठ रहे हैं. कई हादसे हुए हैं और उनकी जांच अभी चल ही रही है. चीन के रेल उद्योग के लिए यह साल काफी मुश्किल रहा है. जुलाई में हाईस्पीड ट्रेनों की टक्कर में 40 लोगों की जान गई और देश के साथ ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी इस हादसे ने आलोचना बटोरी. इस हादसे के बाद से हाईस्पीड नेटवर्क को बनाने का काम लगभग रुका पड़ा है. चीन के रेल उद्योग में हुए विस्तार के पीछे रेल मंत्री लिऊ झिजुन की बड़ी भूमिका रही है. लिऊ झिजुन को इसी साल फरवरी में भ्रष्टाचार के आरोप लगने के बाद बर्खास्त कर दिया गया हालांकि उन पर अब तक कोर्ट में कोई मुकदमा नहीं चलाया गया है. चीन में औसतन 200 किलोमीटर प्रति घंटे या उससे ज्यादा की रफ्तार से चलने वाली ट्रेनों को हाईस्पीड नेटवर्क के दायरे में रखा गया है. चीन के पास दुनिया का सबसे लंबा हाईस्पीड रेल नेटवर्क है जिसकी लंबाई करीब 9,767 किलोमीटर है. जून 2011 तक इसमें 3,515 किलोमीटर का नेटवर्क ऐसा था जिसमें ट्रेनों की रफ्तार 300 किलोमीटर प्रति घंटे से ज्यादा रहती है.

रवि गुप्ता और प्रशांत यादव 
भटनी, देवरिया
« Older Entries